जब किसी स्त्री-पुरुष को क्रोष्टबदृद्गता की विकृति होती है, तो आंत्रो मे मल एकत्र होने से भूख नहीं लगती. अधिक चिंता, भय, क्रोध और घबराहट के कारण भी भूख नष्ट हो जाती है. कुछ दिनो तक ऐसी स्थिति बनी रहे तो भूख पूरी तरह नष्ट हो जाती है. भोजन की सुगंध से भी अरुचि होने लगती है कभी-कभी संक्रामक रोगों के चलते भूख नष्ट हो जाती है. जब किसी कारण से शरीर मे रक्त की अधिक कमी हो जाने से रक्ताल्पता (एनीमिया) रोग होता है तो रोगी की भूख नष्ट हो जाती है. रोगी को भोजन देखकर घृणा होने लगती है. अनियमित भोजन भी अरुचि रोग को उत्पन्न करता है.अरुचि रोग की स्थिति में रोगी को कोई भोजन आकर्षित नहीं करता रोगी को जबरदस्ती खाने को कहा जाए तो उसे भोजन अरुचिकर (बेस्वाद) लगता है. रोगी एक दो ग्रास से अधिक नही खा पाता रोगी को बिना कुछ खाए-पीए खटूटी डकारे आती हैं. कुछ भी काम करने व सीढियां चढने में रोगी बहुत थकावट अनुभव करता है. उसका सारा शरीर पसीने से भीग जाता है. अरुचि के कारण रोगी की शारीरिक निर्बलता बढने लगती है रक्ताल्पता रोग को चिकित्सा मेँ अधिक विलंब किया जाए तो रोगी प्राणघातक स्थिति मेँ पहुंच जाता है.

1. नीबू की शिकंजी –

नीबू की शिकंजी बनाकर उसमें लौंग का चूर्ण और 5 काली मिर्च का चूर्ण डालकर दो बार पीने से अरुचि नष्ट होती है. पाचन क्रिया तीव्र होती है .

2. पीपल –

पीपल 5 ग्राम, टाटरी 15 ग्राम, भुनी हींग 3 ग्राम को कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर रखे. शवेत जीरे को भूनकर कूटना चाहिए. इसमें 50 ग्राम मिश्री भी पीसकर मिला ले, इस चूर्ण को दिन मे तीन-चार बार 3-3 ग्राम मात्रा में चाटकर खाने से बहुत लाभ होता है. अरुचि नष्ट होने के साथ भूख लगने लगती है.

3. जामुन, फालसा व संतरा –

जामुन, फालसा व संतरा खाने से अरुचि नष्ट होती है. संतरे फे 100 ग्राम रस में थोड़ा-सा सेधा नमक, काली मिर्च कै 5 दानों का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से अरुचि नष्ट होती है.

4. पोदीना –

तीन ग्राम पोदीने का रस, जीरा 1 ग्राम, हींग और काली मिर्च के 5 दाने पीसकर 250 ग्राम जल मे मिलाकर पीने से अरुचि नष्ट होती है.

5. अदरक –

अदरक को बारीक काटकर उसमे थोड़ा सा नीबू का रस और सेधा नमक मिलाकर कांच के पात्र मे रखे. दो घंटे के बाद थोड़ा-थोड़ा खाने से अरुचि नष्ट होती है.

1. नाक पर तिल होने का असली मतलब 99% नहीं जानते, आप जरूर जाने – Click Here

2. कब्ज एवं कोष्ठबद्धता को करेंगे जड़ से खत्म ये 16 घरेलु इलाज – Click Here

3. पेट के दर्द को करेंगे जड़ से खत्म ये घरेलु उपाएँ – Click Here

6. खजूर –

खजूर को नीबू कै रस मे पीसकर चटनी की तरह चाटकर खाने से अरुचि नष्ट होती.

7. सोंठ, काली मिर्च –

सोंठ, काली मिर्च पीपल और अकरकरा प्रत्येक 12 ग्राम, अनारदाना 50 ग्राम, सेधा नमक 50 ग्राम मिलाकर 5-5 ग्राम दिन मे दो-तीन बार सेवन करने से अरुचि नष्ट होती है.

8. अजवायन –

अजवायन 5 ग्राम, अमलतास 10 ग्राम को 400 ग्राम जल में मिलाकर काड़ा बनाएं. इस काड़ा को सुबह-शाम पीने से अरुचि नष्ट होती है.

9. असगंथ –

ताजे असगंथ का रस 15 ग्राम निकालकर 30 ग्राम खांड मिलाकर पकाकर सेवन करने से अरुचि नष्ट होती है

10. आंवले –

आंवले और मुनाखा को 10-10 ग्राम मात्रा में पीसकर मुंह में रखकर रस चूसने से अरुचि नष्ट होती है.

11. नागरमोथा –

नागरमोथा, दालचीनी और आंवले को बराबर मात्रा में कूट-पीसकर चूर्ण बनाकर रखें. इस चूर्ण को 3-3 ग्राम मात्रा में दिन में दो-तीन बार मुख में रखकर चूसने से अरुचि नष्ट होती है.

12. अदरक, नीबू –

अदरक, नीबू का रस 3-3 ग्राम मिलाकर, थोड़ा-सा सेधा नमक डालकर पीने से अरुचि नष्ट होती है. सुबह-शाम दो समय सेवन कर सकते हैं.

13. अनार का रस –

अनार का रस 25 ग्राम, मधु 5 ग्राम और काला नमक 3 ग्राम मिलाकर पीने से अरुचि की विकृति नष्ट होती है.

14. सेधा नमक –

प्रतिदिन भोजन करने से पहले, कटे हुए अदरक का सेधा नमक लगाकर सेवन करने से भूख बढती है, अरुचि नष्ट होती है और साथ ही स्वर भंग की विकृति का निवारण होता है.

15. काला नमक –

काला नमक चाटने से दूषित वायु (गेस) का निष्कासन होता है और भूख बढती.

16. चुकंदर –

भोजन के 30-40 मिनट पहले चुकंदर, गाजर, टमाटर, पालक तथा अन्य हरी साग-सब्जियों व फलोदार सब्जियों के मिश्रण का रस पीने से भूख बढती है.भोजन की पाचन क्रिया सरलता से होती है.

17. गेहू अजवायन –

गेहू के चोकर में सेधा नमक और अजवायन मिलाकर रोटी बनाकर खाएं इससे निशचित ही मूख बढेगी.

18. सेब –

प्रतिदिन सेब खाने व सेब का रस पीने से भूख बढती है और रक्त भी शुद्ध होता है.

19. लाल मिर्च-

लाल मिर्चों को नीबू के रस में चालीस दिन तक घोटकर दो’-दो रत्ती की गोलियां बना ले प्रतिदिन एक गोली पान में रखकर खाने से खूब भूख लगती है.

20. टमाटर –

टमाटर का सॉस (चटनी) चाटते रहने या पके टमाटर की फांके काली मिर्च का चूर्ण डालकर खाने से अरुचि नष्ट हो जाती है.

NOTE:-

अगर दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकरी आपको अच्छी लगी हो और आगे भी इस प्रकार की जानकरी पाने के लिए आप हमे सब्सक्राइब करे.ध्यानावाद…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here